Home Study Material GK/GS MP Vyapam Patwari Special Study Materials PDF Download

MP Vyapam Patwari Special Study Materials PDF Download

SHARE

Hello Students, आज की इस Post के माध्यम से हम आपको बतायेगे की MP Vyapam Patwari की MP जनगणना कब हुई, मध्य प्रदेश का विविध, गोंड जनजाति की प्रमुख विशेषताएं, भील जनजाति विशेषताएं, कोरख जनजाति के व्यवस्थाएं, तथा अन्य महतवपूर्ण Topics के बारे में बतायेगे जो आपके  MP Vyapam Patwari के exam के लिए बहुत ही Important है | जो आप लोग लेख के माध्यम से पढ़ सकते है और PDF भी Download कर सकते है | निचे दिए हुवे download Button के आनुसार |

मध्यप्रदेश की जनगणना 2011

  • मध्य प्रदेश के जनगणना देश की कुल जनसंख्या की 6% है
  • भारत में मध्य प्रदेश जनगणना में छठवें नंबर पर आता है
  • भारत में मध्य प्रदेश जनगणना में छठवें नंबर पर आता है
  • मध्यप्रदेश का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला बालाघाट (1021) जबकि न्यूनतम लिंगानुपात भिंड (837) है
  • मध्य प्रदेश की शिव शिव लिंग अनुपात 918 (0-6 वर्ष) है, जो 2001 में 932 था|
  • शहरी क्षेत्र के मुकाबले गांव में बालिकाओं की संख्या ज्यादा घटी है
  • मध्य प्रदेश का स्वास्थ्य शिशु लिंगानुपात वाला जिला अलीराजपुर 978 है जबकि न्यूनतम शिशु लिंगानुपात वाला जिला मुरैना 829 है|
  • जनगणना 2011 के अनुसार प्रदेश का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला इंदौर. जबकि प्रदेश की न्यूनतम जनसंख्या वाला जिला हरदा है |
  • मध्य प्रदेश की प्रथम जनगणना 1881 में मानी जाता है |
  • मध्य प्रदेश की 15वी जनगणना 2011 में हुई |
  • जनगणना कार्य जनसंख्या अधिनियम 1948 के अनुसार किया जाता है
  • 11 मई को जनसंख्या नियंत्रण दिवस के रुप में मनाया जाता है|
  • इस प्रकार प्रदेश की जनसंख्या वृद्धि दर 20.35 प्रतिशत रहती है| प्रदेश में 72.37 प्रतिशत ग्रामीण जबकि 27.63 प्रतिशत जनसंख्या शहरी है |
  • मध्य प्रदेश की ग्रामीण साक्षरता दर 63.94 प्रतिशत है, जबकि नागरिय साक्षरता दर 82.85 प्रतिशत है |
  • मध्य प्रदेश की कुल जनसंख्या का 21.1 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति जनसंख्या (ST) है |
  • मध्य प्रदेश की कुल जनसंख्या का 15.6 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति जनसंख्या (SC) है |
  • प्रदेश में सर्वाधिक नगरीय जनसंख्या भोपाल (80.9 प्रतिशत है )
  • न्यूनतम जनसंख्या डिंडोरी (4.6 प्रतिशत है )
  • प्रदेश में स्वास्थ्य ग्रामीण जनसंख्या डिंडोरी 95.5 प्रतिशत है |
  • न्यूनतम ग्रामीण जनसंख्या भोपाल है है (19.1 प्रतिशत)
  1. जरुर पढ़े : UP Board High School & Intermediate Time Table 2017-18
  2. जरुर पढ़े : UPPSC / UPPCS Previous Year Question Paper Download

मध्य प्रदेश का विविध

  • मई 2015 को विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज ने भोपाल में पासपोर्ट भवन का शिलान्यास किया |
  • मध्य प्रदेश सरकार द्वारा काले हिरण के आवास के लिए शाजापुर में प्रदेश का पहला कंजर्वेशन रिजर्व बनाया जाने का निर्णय लिया |
  • मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में प्रतिवर्ष 25000 मीट्रिक टन (25 हजार किलो) से अधिक उत्पादन होता है जो देश के किसी भी जिले के उत्पादन से सबसे अधिक हैं |
  • मध्य प्रदेश का मंदसौर नगर रावण की पत्नी महारानी मंदोदरी का मायका है|
  • भोपाल गैस दुर्घटना 2 से 3 दिसंबर 1984 को हुआ मैं बची हुई को समाप्त करने के लिए सरकार ने ऑपरेशन चलाया गया था|

गोंड जनजाति की प्रमुख विशेषताएं

  1. गोंड प्रदेश की दूसरी और देश की सबसे बड़ी जनजाति हैं
  2. गोंड जनजाति की अनेक शाखाएं हैं जो संख्या में 50 से ऊपर हैं
  3. प्रदेश के अधिकांश भाग में गोंड अथवा उसकी उपजाति निवास करती हैं
  4. गोंड द्रविड़ियन परिवार के हैं
  5. गोंड गोत्र समाज है
  6. गोंड में सगोत्रीय विवाह होते हैं
  7. गोंड के घर में अतिथियों के लिए एक बंगाल होता है
  8. गोंड स्त्रियां दुगना प्रिय हैं

भील जनजाति की विशेषताएं

  1. भील मध्य प्रदेश की सबसे बड़ी जनजाति हैं
  2. भीम मूलत द्रविड़ियन है
  3. भील भारत की तीसरी सबसे बड़ी जनजाति हैं
  4. भील संसार की सबसे अधिक संग प्रिय जन जाती हैं
  5. भील रात्रि में हो सकता पड़ने पर सामूहिक रुप से लूटपाट कर लेती हैं
  6. भील ताड़ी पीना पसंद करते हैं
  7. भील प्रया: मका खाते है

भारतीय जनजाति की विशेषताएं

  1. भारतीय गोंड जनजाति की शाखाएं
  2. भारतीय स्वभाव से मेहनती और संकोची होते हैं
  3. भारतीयों की कला परंपरा में नृत्य गीत संगीत के साथ चित्र कला और शिल्पकलाए है
  4. भारतीय अपने कामों के प्रति बेहद ईमानदार और सच्चे भोले होते हैं
  5. भारतीयों का मुख्य भोजन पेज हैं
  6. भारतीय तंत्र-मंत्र जादू टोना, भूत प्रेत पर अधिक विश्वास करते हैं

पाताल कोट की विशेषताएं

  1. पातालकोट प्रकृति के एक अद्भुत रचना है यहां 79 किलोमीटर की गहरी खाई है
  2. पातालकोट मैं भारतीय जनजाति के लोग निवास करते हैं
  3. पातालकोट मैं 23 गांव बसे हैं जिसमें 12 गांव आबाद है शेष विरान है
  4. पातालकोट समुद्र सतह से 2750 63250 फीट ऊंचाई पर स्थित है , पातालकोट मैं सूरज देर से उगता है और जल्दी डूबता है
  5. भारतीय गोड़ो का उपशाखा है

 

 

 

Must Read

Disclaimer
https://www.sarkariresultupdate.com is designed only for the Educational Purpose Education sector, and is not the owner of any book/notes / PDF Material / Books available on it, nor has it been created nor scanned. We only provide the link and material already available on the Internet. If in any way it violates the law or there is a problem, please mail us at [email protected]
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here